ऋण दिलवाने के नाम पर खाता खुलवा कर ग्राहको क़ा रुपये ले दलाल फरार….

1,637 Views

सुधाकर कुमार, ज़िला प्रभारी
नजरिया न्यूज़ सुपौल/बिहार

कोसी व पूर्णिया प्रमंडल में दि कोशी सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड नाम पर लाभकारी योजनाओं का प्रलोभन देकर एवं धोखाधड़ी कर लाखों की राशि गबन करने का मामला प्रकाश में आया है। मामले में खाताधारकों ने थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है। जिसमें सोसाइटी के निदेशक समेत अन्य को आरोपित किया गया है।थाना में दिए आवेदन में लोगों ने कहा है कि दि कोशी सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसाइटी नामक संस्था में सैकड़ों लोगों द्वारा विभिन्न योजना मद में राशि जमा की गई।

छातापुर थानाक्षेत्र स्थित वीओआई के निकट ललन यादव के मकान में चल रहे दि कोशी सेंट्रल को-आपरेटिव क्रेडिट सोसायटी लिमिटेड नामक बैंक में ऋण करवाने के नाम पर खाता खुलवा कर दलाल द्वारा रुपये ले फरार होने क़ा मामला सामने आया है।
लोगों ने बताया कि उपभोक्ताओं के सुबधानिहित दैनिक जामा योजना के नाम पर दर्जनों खाताधारियों का खाता खोलवाकर लोन दिए जाने के नाम पर पहले उपभोक्ताओं को फसाया फिर तीन महीने तक उक्त खाते में डेली जमा 50 से लेकर 1000 रुपया तक जमा लिया जाने लगा । उपभोक्ताओं से यह कहकर की 10 हजार की राशि जामा होने पर 20 हजार का लॉन दिए जाने की बात कही गई थी ।

लेकिन उपभोक्ताओं द्वारा जब 10 हजार रुपया जमा कर जब लोन के लिए एजेंट को दबाव बनाया गया तो एजेंट मो नाजिम ने महीनों से आजकल आजकल की बात कह कर टालमटोल करते रहा । जब उपभोक्ता द्वारा बैंक से संपर्क की गई तो पता चला कि लोन का रुपया खाते से निकासी कर लिया गया है । इधर थाना को दिए गए 20 लोगो का हस्ताक्षर युक्त आवेदन में बताया है कि सभी खाताधारकों का लोन एजेंट और शाखा प्रबंधक के मिलीभगत से ऐसे सेकड़ो लोगो का खाता खोलकर और पैसा जमा लेकर फर्जी तरीके से लाखों रुपया का लोन पास कर निकासी कर लिया गया है


। बताया जाता है कि यह सारे लोग छातापुर पंचायत के राजवाड़ा गांव निवासी है । जबकि एजेंट मो नाजिम भी राजवाड़ा का ही रहने वाला है । इस घटना से आबत उपभोक्ताओं ने शुक्रवार को बैंक शाखा पहुंचकर जमकर उत्पाद मचाया । सूचना पर बीसीओ बिकास पंकज ने बैंक पहुँचकर अवैध निकासी का जायजा लिया ।इस बाबत बीसीओ ने बताया कि लोगो की शिकायत पर बैंक का जायजा लिया, तथा शाखा प्रबंधक से बैंक चलाने को लेकर किसी अनुमति और महत्वपूर्ण कागजात का मांग किया । बीसीओ ने बताया कि बैंक प्रबन्धक द्वारा दो दिनों की मोहलत मांगी है । दो दिनों बाद स्पस्ट हो जाएगी कि बैंक फर्जी है या सही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!