आईपा के नेशनल कॉन्फ्रेंस में राष्ट्रपति पुरस्कार सदस्यों के उत्थान पर हुई चर्चा-Najarianews.in

722 Views

ब्यूरो रिपोर्ट नजरिया न्यूज 

फारबिसगंज/अररिया

फारबिसगंज:ऑल इंडिया प्रेसिडेंट अवॉर्डीस एसोसिएशन (आईपा) की राष्ट्र स्तरीय स्टेट को-ऑर्डिनेटर कॉन्फ्रेंस का आयोजन उत्तरप्रदेश, आगरा के होटल अल्पाइन में किया गया। जिसमें भारत के विभिन्न राज्यों उत्तरप्रदेश, बिहार, हरियाणा, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, झारखंड, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, असम, अरुणाचल प्रदेश, हैदराबाद आदि राज्यों के राष्ट्रपति पदक व राष्ट्रपति पुरस्कार सम्मानित आईपा के स्टेट को-ऑर्डिनेटर और राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी उपस्थित हुए। जिसमें आइपा बिहार के स्टेट को-ऑर्डिनेटर राशिद जुनैद ने बिहार का प्रतिनिधित्व करते हुए कॉन्फ्रेंस में अपनी सहभागिता निभाई। राशिद जुनैद वर्ष 2010 में भारत के प्रथम महिला राष्ट्रपति महामहिम श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल के द्वारा राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित हैं और वर्तमान में एसजी टीचिंग सेंटर शैक्षणिक संस्थान के निर्देशक हैं। राष्ट्र स्तरीय कॉन्फ्रेंस से लौटने के बाद राशिद जुनैद ने बताया कि आईपा पूरे भारत के शिक्षा, सेना, स्काउट -गाइड, आदि सभी क्षेत्रों से बेहतर सेवा हेतु राष्ट्रपति पदक व राष्ट्रपति पुरस्कार सम्मानित सज्जनों का एक संगठन है। जो पूरे देश में राष्ट्रपति सम्मानित सदस्यों के उत्थान व कल्याण के लिए कार्य करती है आइपा विभिन्न सामाजिक संगठनों व स्थानीय प्रशासन के सहयोग से समाज में एक नई दिशा देने हेतु कार्य के लिए अग्रसर है। वहीं उन्होंने बताया कि कांफ्रेंस का उद्देश्य देश के सभी राष्ट्रपति पुरस्कार व राष्ट्रपति पदक सम्मानित लोगों को एक प्लेटफार्म पर लाना है और साथ ही उनके हक के लिए आवाज को बुलंद करना है उन्होंने वर्तमान व्यवस्था पर चोट करते हुए कहा कि पिछले दशक में राष्ट्रपति सम्मानित लोगों के साथ सरकार के द्वारा उपेक्षा की जा रही है जिसके लिए अब चरणबद्ध तौर पर पूरे भारत में संबंधित अधिकारियों व प्रतिनिधियों को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांगों को सरकार तक पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। साथ ही बताया कि हाल के महीनों में सरकार के समक्ष राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त स्काउट-गाइड के पक्ष में रेलवे की भर्ती में मिलने वाले आरक्षण के आधार केंद्र सरकार के अन्य सभी केंद्रीय विभागों व राज्यो के राजकीय विभागो के सरकारी नौकरियों में कम से कम 5% कोटा आरक्षित किया जाए। केंद्र व राज्य सरकारों के शिक्षा विभाग में स्काउट्स शिक्षक की नियुक्ति की प्रावधान को सुनिश्चित करते हुए स्काउट शिक्षक के रूप में केवल राष्ट्रपति स्काउट- गाइड की नियुक्ति को वरीयता दी जाए, राष्ट्रपति पदक व राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त सदस्यों को रेलवे में यात्रा हेतु 50 से 75 प्रतिशत छूट का प्रावधान लागू किया जाये, राज्य सरकार के सभी रोडवेज बसों में राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त सदस्यों के लिए सड़क परिवहन हेतु एक सीट मुफ़्त आरक्षित किया जाए, स्काउट- गाइड कोटे के अंतर्गत पूर्व से चल रही भर्ती प्रक्रिया को दो पदों से बढ़ाकर कम से कम ग्रुप सी एवं ग्रुप डी में बारह पद सभी मंडलों में आरक्षित किए जाए। वहीं भारत के सभी राज्यों की भांति बिहार में भी राष्ट्रपति पुरस्कार सदस्यों को शैक्षणिक प्रतियोगिता परीक्षा में 15 अंक एवं राज्य पुरस्कार सदस्यों को 12 अंक बोनस के रूप में देने का प्रावधान तत्काल प्रारंभ किया जाए ।वहीं आगरा में हुई इस कॉन्फ्रेंस में मुख्य रूप से राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारियों में विपिन सोलंकी आइफा संस्थापक, अलिमहा अली मैनेजिंग डायरेक्टर के अलावे स्टेट कोऑर्डिनेटर गोलू शर्मा, गौरव अग्रवाल, सुमित गलेतिया, प्रतिक कानके, धर्मेंद्र सिंह बाथम, तेजस जौहरी, सूरज गंगवार, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!