जी.डी. गोयनका स्कूल प्रबंधन की ओर से उत्कृष्ट प्रदर्शन पुरस्कार स्वरुप शिक्षक को मिली कार।

49 Views
  • लक्ष्मीकांत प्रसाद(नजरिया संवाद) कटिहार।

बहुचर्चित जी. डी. गोयनका पब्लिक स्कूल ने शिक्षकों को उपहार देने के क्षेत्र में विद्यालय प्रबन्धन समिति ने इतिहास रच दिया है। विद्यालय की स्थापना सन 2018 में हुई और 10वीं की बोर्ड परीक्षा के पहले बैच में शत-प्रतिशत छात्र प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण हुए जिसमें अधिकतम छात्रों ने 90 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किये हैं। ये परिणाम अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। इस बात को लेकर पूरे विद्यालय में जश्न का माहौल है। माहौल को और भी खुशनुमा बना दिया है विद्यालय के चेयरमैन डॉ पियूष अग्रवाल जी की एक घोषणा ने, जिसमें उन्होंने विद्यालय में गणित के शिक्षक को पुरुस्कार स्वरुप एक नई कार देने का वादा किया था।
परीक्षा पूर्व उन्होंने वचन दिया था कि अगर किसी भी छात्र को किसी विषय में शत प्रतिशत अंक मिलते हैं तो उस विषय के शिक्षक को एक कार उपहार के रूप में दिया जाएगा। परीक्षा परिणाम के उपरान्त उन्होंने इस वायदे की पुष्टि की जिससे सभी शिक्षकगण काफी खुश हैं। अपने वादे को पूरा करते हुए मंगलवार शाम को सीमांचल मोटर्स में कार्यक्रम रखा गया था जिसमें विद्यालय के चेयरमैन डॉ पियूष अग्रवाल, वाईस चेयरमैन शैलेन्द्र गुप्ता, राजेश अग्रवाल, सम्मानित ट्रस्टी कटिहार साथ ही साथ विद्यालय की प्रधानाचार्या स्वाति अहमद, उप प्रधानाचार्य साईंराम वरदाजी, अकादमिक समन्यवयक राज कुमार दास और शिक्षकगण मौजूद थे। इसके अलावा सीमांचल मोटर्स के मालिक अरुण अग्रवाल, सीमांचल मोटर्स के जनरल मैनेजर राजीव कुमार मिश्रा सहित उनकी पूरी टीम भी मौके पर मौजूद थे। सबसे पहले गणित के शिक्षक सर्वेश राय को गाड़ी की चाभी सौंपी गयी। उसके बाद विद्यालय के चेयरमैन डॉ पियूष अग्रवाल जी ने सबको संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षकों के अथक परिश्रम की वजह से ही विद्यार्थीगण परीक्षा में अच्छे अंक लाने में सफल हुए हैं। उन्होंने सभी शिक्षकों की तारीफ की और उनकी हौसलाफजाई किया। ज्ञात हो कि अरुण अग्रवाल जो कि पूर्णिया के जानेमाने व्यक्ति है और सीमांचल मोटर्स के मालिक भी हैं वे अपने नेक कार्यों के लिए पूर्णिया में लोकप्रिय हैं। उन्होंने भी इसमें अपनी सहभागिता दिखायी और अपने तरफ से उस कार में लगने वाले सारे सामान पुरस्कार स्वरूप भेंट किये। यह शिक्षको के प्रति एक सकारात्मक सोच है और नेक कदम है। उसके बाद विद्यालय की प्रधानाचार्या स्वाति अहमद ने कि गणित के शिक्षक सर्वेश राय के साथ साथ-सभी शिक्षकों के योगदान की सराहना की और विद्यालय की इस उपलब्धि पर हर्ष जाहिर किया।
विद्यालय प्रबंधन द्वारा ये कार्य काफी सराहनीय और उत्साहवर्धक हैं। निश्चित रूप से इस कदम से शिक्षकों में एक सकारात्मक उर्जा और जोश का संचार होगा। निश्चय ही विद्यालय की यह नीति शिक्षकों में लगनशीलता कर्मठता और प्रयत्नशीलता को बढ़ावा देगी जो छात्रों के लिए भी कल्याणकारी सिद्ध होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!