पुल नहीं रहने से ग्रामीणों को मुख्यालय जाने में हो रही है कठिनाई

631 Views

संवाद सहयोगी लालमोहन कुमार मेहता  नजरिया न्यूज़ छातापुर सुपौल

छातापुर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत पंचायत झखाड़गढ वार्ड संख्या 9 और 10 के मध्य अब भी विकास से कोसों दूर हैं यहां की नदियों के बीच लगभग 10000 आबादी बसी हुई है। बारिश के मौसम में सुरसर नदी व नदी में हद से ज्यादा पानी होने के कारण आम लोगों को और पंचायत के बच्चों की शिक्षा भविष्य इस चचरी के सहारे चलता है। उफान के बीच जाने आने में कठिनाई होती है। इस दौरान कटहारा मोहनपुर मकुर्जा हॉट और अररिया जिला के लोग भी इस रास्ते के माध्यम से आते जाते हैं पिठौरा फतेहपुर मिरदौल फतेहपुर नरपतगंज कूशमौल के लोगों को जाने आने में खास कठिनाई का सामना है करना पड़ता है सबसे ज्यादा परेशानियां गर्भवती महिलाओं एवं मरीजों को काफी कष्ट झेलना पड़ता है लोगों को खाट के सहारे इलाज एवं प्रसव हेतु प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र छातापुर लाया जाता है और प्रखंड मुख्यालय होने के कारण अन्य कार्य हेतु भी इसी रास्ते से गुजरना पड़ता है ग्रामीणों को सुरसर नदी पर बनी चचरी के सहारे ही आवागमन के लिए सालों भर निर्भर करना पड़ता है पुल बनने के बाद छातापुर मुख्यालय की दूरी सिमटकर 3 किलोमीटर हो जाएगी जबकि ग्रामीणों को छातापुर बाजार जाने के लिए 9 किलोमीटर की लंबी रास्ता दूरी तय करनी पड़ती है ग्रामीणों का कहना है कि सुरसर नदी में पुल बनने के लिए गांव के युवाओं द्वारा पुल निर्माण के लिए समिति गठन करके प्रखंड से लेकर अनुमंडल कार्यालय एवं जनप्रतिनिधियों तक पुल निर्माण को लेकर संघर्ष किया यहां के युवाओं द्वारा अधिकारियों से लेकर सांसद विधायक भी गांव का दौरा करने पहुंचने लगी और गांव की अन्य सभी समस्याओं से अवगत हुए इस क्रम में पुल निर्माण जल्द ही शुरू करने का भरोसा भी दिलाया इस से ग्रामीणों में काफी उत्साह की आश जगी लेकिन ऐसा कुछ देखने को अभी तक नहीं मिला है यहां तक की बरसात के मौसम में नदी की उफान से कभी कभार नदी में बनी बांस की चचरी पानी की तेज धारा में वह भी जाती है इस संकट की घड़ी में मरीजों को कांदे के सहारे नदी में तैरते हुए इलाज के लिए कभी कभार ले जाना पड़ता इस दौरान बहुत बड़ा हादसा भी होने का संभावना बनी रहती है अस्थानीय पंचायत के ग्रामीणों को पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि हम लोग को खास करके बरसात के मौसम में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।अस्थानीय ग्रामीण रामदेव साह रंजीत कुमार गुप्ता बैजनाथ साह शिवलाल यादव सिकंदर सिंह पवन सिंह शुक्रर सिंह रामजीवन सिंह मोहम्मद रसूल मोहम्मद उस्मान मोहम्मद इमावली सहित गांव के अन्य लोग ने कहा कि नदी के कारण गांव के लड़का-लड़की की शादी विवाह में भी परेशानी हो रही है आसपास के प्रखंड की लोग इस गाँव आने से कतराते है। यहां तक कि इस गांव में अपना रिश्ता जोड़ना भी नहीं चाहता जबकि ग्रामीण पुल निर्माण की भरोसा भी छोड़ चुका है इस बाबत में छातापुर प्रखंड विकास पदाधिकारी अजित कुमार सिंह ने बताया कि झखाड़गढ पंचायत के लोगों व आसपास के पंचायत कटहरा मोहनपुर रामपुर अन्य जगहों की लोगों को प्रखंड मुख्यालय होने के कारण खासकर की बरसात के मौसम में चचरी पार करके आने जाने में भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और जल्द ही आवेदन देकर पुल निर्माण के लिए मांग करेंगे और जल्द ही पुल निर्माण कार्य हो सके

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!