धुम धाम से मनाया गया सामा चकेवा पर्व-najarianews.in
696 Views

विकाश प्रकाश (ब्यूरो)
नजरिया न्यूज अररिया : अररिया शहर के ओमनगर वार्ड नं0 8 और भूदान में भी सामा चकेवा का पर्व बड़े ही धुम घाम से मनाती युवती एवं घर की औरतें नजर आये

सामा-चकेवा के उत्सव का सम्बन्ध सामा की दुःख भरी कहानी  से है | सामा कृष्ण की पुत्री थी |जिसका बर्णन पुरानों में भी किया गया है | कहानी यह है कि एक दुष्ट चरित्र बाला व्यक्ति ने एक योजना रची | उसने सामा पर गलत आरोप लगाया कि उसका अबैध सम्बन्ध एक तपस्वी से है | उसने कृष्ण से यह बात कह दिया | कृष्ण को अपनी पुत्री सामा के प्रति बहुत ही गुस्सा हुआ | क्रोध में आकर उसने सामा को पक्षी बन जाने का श्राप दे दिया | सामा अब मनुष्य से पक्षी बन गयी |

जब सामा के भाई चकेवा को इस प्रकरण की पुरी जानकारी हुई तो उसे अपनी बहन सामा के प्रति सहानुभूति हुई | अपनी बहन को पक्षी से मनुष्य रूप में लाने के लिए चकेवा ने तपस्या करना शुरू कर दिया | तपस्या सफल हुआ |सामा पक्षी रूप से पुनः मनुष्य के रूप में आ गयी |अपने भाई की स्नेह और त्याग देख कर सामा द्रवित हो गयी |वह अपने भाई की कलाई में एक मजबूत धागा राखी के रूप में बाँध दी |उसी के याद में आज बहनें अपनी भाइयों की कलाई में प्रति वर्ष बांधती आ रही हैं |

तो हम कह सकते हैं कि समा-चकेवा का उत्सव भाई- बहन के सम्बन्ध को मजबूती देता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!