नालंदा – विम्स पावापुरी में कोविड-19 टेस्टिंग एवं कोविड केयर सेंटर के सुगम संचालन को लेकर जिला पदाधिकारी ने वरीय पदाधिकारियों की की प्रतिनियुक्ति, विम्स प्रबंधन एवं अधिकारियों के साथ की बैठक।-:najarianews.in

347 Views

सूरज कुमार (जिला प्रभारी)

नजरिया न्यूज़ नालंदाःराज्य सरकार के निर्देश के आलोक में वर्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान पावापुरी में 100 बेड क्षमता का विशेष कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। इस सेंटर में नवादा, शेखपुरा एवं नालंदा जिला के क्रिटिकल कोविड-19 के मरीजों का इलाज किया जा रहा है।इसके साथ ही विम्स में ट्रूनेट एवं रैपिड एंटीजन टेस्ट के माध्यम से कोविड संक्रमण की जांच भी की जा रही है।
विम्स पावापुरी में टेस्टिंग, इलाज, डिस्चार्ज एवं विधि व्यवस्था को सुगम बनाए रखने हेतु अस्पताल प्रबंधन एवं प्रशासन के बीच समन्वय स्थापित रखने के उद्देश्य से जिला पदाधिकारी ने जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी को वरीय पदाधिकारी के रूप में दायित्व दिया है। साथ ही तीन पालियों में अलग से वरीय पदाधिकारियों को अन्य सहयोगी पदाधिकारियों के साथ प्रतिनियुक्त किया गया है, जो निर्धारित अवधि में विम्स पावापुरी में उपस्थित रहकर तमाम व्यवस्था पर नजर बनाए रखेंगे तथा आवश्यकतानुसार विम्स प्रबंधन एवं जिला प्रशासन के बीच समन्वय स्थापित रखेंगे।प्रातः 6:00 बजे से अपराह्न 2:00 बजे तक भूमि सुधार उप समाहर्ता राजगीर, अपराहन 2:00 बजे से रात्रि 10:00 बजे तक अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजगीर तथा रात्रि 10:00 बजे से पूर्वाह्न 6:00 बजे तक अपर अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर वरीय पदाधिकारी के रूप में प्रतिनियुक्त रहेंगे।सभी प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों को टेस्टिंग एवं कोविड केयर सेंटर में चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ का ड्यूटी रोस्टर उपलब्ध करा दिया गया है।जिला पदाधिकारी ने सभी चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ को निर्धारित रोस्टर के अनुसार ड्यूटी सुनिश्चित करने को कहा। टेस्टिंग से संबंधित मामलों की ससमय रिपोर्टिंग भी सुनिश्चित करने को कहा गया। अन्यथा संबंधित कर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।जिला पदाधिकारी ने नर्सिंग सुपरिटेंडेंट सहित विभिन्न चिकित्सकों से भी कठिनाइयों के बारे में जानकारी ली।चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल स्टाफ की उपस्थिति की जानकारी इंटरकॉम या वीडियो कॉलिंग के माध्यम से प्राप्त करने का निदेश जिला पदाधिकारी ने दिया।विम्स के प्राचार्य द्वारा बताया गया कि संस्थान में कोविड इमरजेंसी एवं सामान्य इमरजेंसी के लिए अलग-अलग व्यवस्था की गई है। दोनों इमरजेंसी के लिए अलग-अलग चिकित्सकों की ड्यूटी लगाई गई है।
जिला पदाधिकारी ने सभी चिकित्सकों एवं अन्य स्टाफ से कोविड पांडेमिक की इस घड़ी में धैर्य, सावधानी एवं संवेदनशीलता के साथ कार्य करने को कहा।
बैठक में प्राचार्य डॉ पवन कुमार चौधरी, अधीक्षक डॉ ज्ञान भूषण, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजेश कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजगीर, विम्स के विभिन्न विभागों के प्राध्यापक/ चिकित्सक, नर्सिंग सुपरीटेंडेंट, भूमि सुधार उप समाहर्ता राजगीर, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राजगीर, अपर अनुमंडल पदाधिकारी राजगीर, प्रखंड विकास पदाधिकारी गिरियक सहित अन्य पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!