फारबिसगंजःसड़क बनी नदी, लोगों ने नाव की मांग की।-:najarianews.in

68 Views

मृत्युंजय सांडिल (संवाददाता)

नजरिया न्यूज़ फारबिसगंजःप्रखंड क्षेत्र का परवाहा गाँव राजनितिक दृष्टि से उर्वरक रहा है, वहीं गाँव पर सरस्वती की भी कृपा रही है। यहीं के पंडित माधव मिश्र संयुक्त पूर्णियाँ जिले के पहले ट्रिपल MA करने वाले व्यक्ति थे। अभी भी गाँव के लोग प्रशासनिक, न्यायीक और शैक्षणिक स्तर पर गाँव का नाम बढा रहे हैं। यहाँ लगने वाला हाट जिला भर में प्रसिद्ध है और सरकार को इस से बड़ा राजस्व प्राप्त होता है। जानकार कहते हैं कि परवाहा मसाले का बड़ा बाजार है, यहाँ के अनाज मंडी में जिला के 4 प्रखंड के साथ पड़ोसी जिला सुपौल और मधेपुरा के किसान भी अपना अनाज बेचते हैं। लेकिन एक सड़क की बदहाली ने परवाहा की स्थिति बद्तर बना दी है। परवाहा हाट को नरपतगंज प्रखंड को जोड़ने वाली सड़क पर बारह महीनें घुटने भर पानी लगा रहता है। जिस से अजीज होकर लोग परवाहा हाट आने से कतराने लगे हैं। दुकानदार जहाँ दिन भर ग्राहक का इंतजार करते दिखते हैं वहीं स्थानीय लोग घुटने भर
पानी में हाट से घर और घर से हाट जाने को विवश हैं। स्थानीय विक्रम झा, उमेश साह, तेजनारायण साह, मुरली साह, कृत्यानंद झा, कुमोद झा, पवन झा, भरत मंडल, अरविंद मंडल, तालो मरांडी, प्रधान किस्कु आदि ने बताया कि इस सड़क की शिकायत विधायक से लेकर सांसद तक कई बार किया मगर नतीजा हर बार शून्य हिं निकला। प्रसाशनिक लापरवाही से तंग होकर यहाँ के स्थानीय लोगों ने तत्काल एक नाव की मांग कर दी है जिस से आवागमन जारी रहे। श्रीराम सेना के सर्वेश केसरी, सोनू मंडल, राहुल केसरी, रूपेश केसरी, कृष्णा साह, विजय कुमार आदि ने कहा कि अगर प्रसाशन सड़क नहीं बना सकता है, नाला नहीं बना सकता है तो एक नाव दे जिस से आम आदमी का आना जाना बना रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!