टीचर्स ऑफ बिहार ने वर्चुली मनाया सुरक्षित शनिवार आपदा के अधिकारियों ने बताये कई कारगर टिप्स।-:najarianews.in

157 Views

एम. एम. राजा (संवाददाता)

नजरिया न्यूज़ फारबिसगंजःमुख्यमंत्री विद्यालय सुरक्षा कार्यक्रम के तहत प्रारंभिक विद्यालयों में सुरक्षित शनिवार में बच्चों को आपदा से सम्बंधित जानकारी दी जाती गई। लॉक डाउन की वजह से सभी विद्यालय बंद हैं।ऐसी स्थिति में टीचर्स ऑफ़ बिहार : द चेंज मेकर्स समूह ने बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा, स्कूल ऑन मोबाइल कार्यक्रम के द्वारा देने का जो सार्थक प्रयास किया है, आज इसी कड़ी में बिहार स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट ऑथिरिटी के प्रोजेक्ट अफसर सह सुरक्षित शनिवार के नोडल अफसर डॉ. पल्लव कुमार फेसबुक लाइव के माध्यम से वज्रपात (ठनका) के सन्दर्भ में विस्तृत जानकारी प्रदान किये l श्री पल्लव ने सुरक्षित शनिवार की वार्षिक सारणी, समावेशी आपदा जोखिम न्यूनीकरण, मौसम आधारित आपदा बाढ़, तड़का (वज्रपात) इत्यादि से बचने के लिए विद्यालयों में बाल प्रेरकों को प्रशिक्षित करने की बात कही। बच्चे, हजार्ड हंट यानी जोखिमों की पहचान कैसे करें इस पर विशेष बल दिया गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बच्चे व विद्यालय समुदाय को सुरक्षित रखना है। क्योंकि बच्चे आपदा से अपरिचित होते हैं। उन्हें पूर्व का कोई अनुभव नहीं रहता।बिहार आपदाओं का केंद्र है। सुरक्षित शनिवार पूरे देश में लागू है, किन्तु बिहार पहला राज्य है जिसने आपदा का रोडमैप बनाया है। इस लाइव सेशन को शशिधर उज्ज्वल एवं हेमप्रिया सिंह ने होस्ट किया। आज के पहले एपिसोड में सुरक्षित शनिवार के तहत वज्रपात जैसे खतरनाक आपदा पर चर्चा करते हुए इस लाइव सत्र में टीओबी के तमाम सदस्यों के साथ विभिन्न विद्यालयों के शिक्षक-शिक्षिका छात्र-छात्रा सहित मीडिया के बंधुओ ने शिरकत की तथा कमेंट्स बॉक्स में अपने सवालों को पूछा। जिसको बहुत ही बेबाकी से वक्ता डॉ पल्लव सर, शशिधर उज्ज्वल और हेम प्रिया द्वारा विभिन्न स्लाइड्स, वीडियो के द्वारा जबाब दिया गया।इधर वैष्णवी मिश्रा, शिक्षिका गोपालगंज ने भी सुरक्षित शनिवार के इस कार्यक्रम में लाइव आकर आपदा से बचाव के संबंध में अपने अनुभव शेयर किया। डॉ पल्लव कुमार ने टीचर्स ऑफ़ बिहार की काफी सराहना की और लाइव होस्ट करने के लिए मास्टर ट्रेनर शशिधर उज्ज्वल एवं हेमप्रिया सिंह को धन्यवाद ज्ञापन किया l

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!