शेखपुरा में चर्चित राईस मिल मालिक हत्या कांड के आरोपी सहित तीन शातिर बदमाश गिरफ्तार – najarianews.in

485 Views

– यूपी के गाजियाबाद में भी विवेक के विरुद्ध अपहरण का मामला है अंकित

नीतीश कुमार (संवाददाता)
शेखपुरा/बिहार :

शेखपुरा पुलिस ने एसटीएफ की मदद से जिले के मोस्ट वांटेड एवम मेहूस गांव के चर्चित राईस मिल मालिक व पूर्व मुखिया जयराम सिंह के चचेरे भाई नेपाली सिंह की सरेशाम गोलियों से छलनी कर हत्या करने के मामले के आरोपी विवेक कुमार को गिरफ्तार कर लिया ।

पुलिस ने उसके दो सहयोगियों में शातिर बदमाश मुकेश सिंह उर्फ कल्लू और संतोष कुमार उर्फ पाठों को भी गिरफ्तार किया है पुलिस को उसकी तलाश नगर क्षेत्र के मेहूस मोड़ स्थित कुरियर संचालक की हत्या और मेहूंस गांव के मिलर नेपाली सिंह की गत साल की गई हत्या के मामले में तलाश थी। पुलिस ने गिरफ्तार बदमाशों के पास हत्या में प्रयोग किए गए हथियार भी बरामद कर लिए हैं ।

अभियुक्तो ने पुलिस के समक्ष इन अपराधों में अपनी संलिप्तता भी स्वीकार कर ली है । पुलिस इस मामले में स्पीडी ट्रायल चलाकर इन अभियुक्तों को जल्द से जल्द सजा दिलवाने में अब जुट गई है । एसपी दयाशंकर ने शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर इस गिरफ्तारी के बारे में विस्तार से पत्रकारों को जानकारी दी ।

उन्होंने बताया कि जिले के सिरारी ओपी अंतर्गत भदौस मोड़ के पास एसपी को सूचना मिली थी कि तीन अपराधी विवेक कुमार. मुकेश कुमार और संतोष कुमार हथियार के साथ इकट्ठा हुए हैं। गुप्त सूचना के आलोक में जिला पुलिस ने एसटीएफ के संयुक्त टीम गठित कर तीनों अभियुक्तों को हथियारों व कारतूसों के साथ पकड़ लिया।

तीनों अभियुक्तों के तलाशी के क्रम में विवेक कुमार के कमर से एक लोडेड कट्टा तथा उसके जेब से एक जिंदा गोली और मुकेश सिंह उर्फ कल्लू के पॉकेट से पॉइंट .315 का दो जिंदा गोली बरामद किया गया । इन तीनों बदमाशों के पास से चार मोबाइल सेट तथा कई सिम भी बरामद किया गया । पकड़े गए अपराधियों में विवेक व मुकेश पूर्व से कई हत्या लूट एवं शराब संबंधी मामलों में फरार चल रहा था। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार विवेक कुमार और मुकेश सिंह के खिलाफ जिले के कई थानों में हत्या, लूट , हत्या के प्रयास, शस्त्र अधिनियम , डकैती के दौरान हत्या इत्यादि मामले दर्ज हैं ।.

इसके अलावा विवेक कुमार के खिलाफ उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक बालिका के बुरी नियत से अपहरण करने का मामला भी दर्ज है। एसपी ने बताया कि 2 दिन पूर्व शराब के बड़े खेत की बरामदगी में मेहूंस गांव निवासी मुकेश सिंह उर्फ कल्लू की संलिप्तता सामने आई थी। कल्लू सिंह की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस ने अपनी सक्रियता बढ़ाई।

इसी अभियान के दौरान विवेक कुमार और संतोष कुमार उर्फ पाठों भी पुलिस की गिरफ्त में आ गया। एसपी ने बताया कि विवेक कुमार के ऊपर पचास हजार रूपये की नाम की अनुशंसा घोषित करने के लिए सरकार से अनुशंसा की गई थी।

रूपये के लिए अपराध करता था। विवेक
एसपी ने बताया कि शेखपुरा पुलिस के लिए सरदर्द बना विवेक रूपये के लिए अपराध की दुनिया में प्रवेश किया। हत्या के द्वारा खौफ पैदा कर रुपया कमाने का जरिया उसने बनाया। इसी साल के मई माह में नगर क्षेत्र के मेहूस के राईस मिल मालिक के शरीर में क्रूरता का परिचय देते हुए दजनों गोलियां उतार दी थी । पुलिस के पास उस हत्या में बरामद खोखा सुरक्षित है।

पुलिस विवेक के पास से बरामद हथियार से उसको खोखा को मिलाने के लिए एफएसएल के पास भेजने की तैयारी कर रही है। जिले में उसके खिलाफ दबिश बनने के बाद वह यहां से उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद चला गया। गाजियाबाद से लौटने के बाद वह शराब कारोबारियों के साथ सांठगांठ कर पुनः अपराध की दुनिया से रुपया कमाने की योजना में लग गया था।

इस गिरफ्तारी के बाद पुलिस को राहत की सांस मिली है। ईस बड़ी सफलता के बाद पुलिस तीनों अपराधियों से गहन पूछताछ कर रही है । पुलिस को और भी कई तथ्य पता लगने की संभावना है ।. इन बदमाशों के तार जिले के शराब माफिया के साथ भी जुड़ा हुआ बताया गया है । एसपी के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसडीपीओ सुरेंद्र कुमार सिंह, थानाध्यक्ष चंदन कुमार, आई टी सेल के दिलीप चौधरी सहित कई पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!